ALL News राजनीति Education Public
यूपी बोर्ड 10वीं 12वीं के सभी छात्रों को पास करने वाला सर्कुलर फर्जी, UPMSP ने जारी किया ये नोटिस
April 3, 2020 • Dr. Arshad Samrat

सीबीएसई ही नहीं बल्कि यूपी बोर्ड परीक्षा और रिजल्ट को लेकर भी कई फर्जी मैसेज वायरल हो रहे हैं। पिछले माह कोरोना वायरस संक्रमण और लॉकडाउन के चलते यूपी बोर्ड उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कार्य बीच में ही स्थगित करने पड़े थे। लॉकडाउन के चलते छात्रों घर पर रहकर अपने रिजल्ट का इंतजार कर रहे हैं। लेकिन इस बीच स्टूडेंट्स में एक ऐसा सर्कुलर वायरल हो रहा है कि जिसमें कहा गया है कि यूपी बोर्ड ने 10वीं और 12वीं के सभी विद्यार्थियों को पास करने का फैसला लिया है। इसमें कहा गया है कि कोरोना वायरस महामारी के चलते कॉपियां चेक करने में आ रही दिक्कतों की वजह से सभी छात्र छात्राओं को पास किया जाएगा। उनकी मार्कशीट पर मार्क्स नहीं लिखे जाएंगे बल्कि सिर्फ पास लिखा जाएगा। 

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद् (यूपी बोर्ड) ने साफ कहा है यह सर्कुलर पूरी तरह फर्जी है। स्टूडेंट्स अपनी तैयारी जारी रखें, इनसे गुमराह न हों। बोर्ड ने अपनी आधिकारिक वेसबाइट https://upmsp.edu.in पर नोटिस जारी कर कहा है - 'समस्त छात्र/छात्राएं, अभिभावकों, शिक्षकगणों एवं अन्य सर्व संबंधितों को सूचित किया जाता है कि वर्ष 2020 की हाईस्कूल व इंटर परीक्षा में शामिल होने वाले समस्त छात्र/छात्राओं को पास कर देने संबंधी कतिपय सूचनाएं, बोर्ड का मोनोग्राम लगाकार व्हाट्सएप/ट्विटर एवं मीडिया के माध्यम से वायरल हो रही हैं। ये सूचनायें पूरी तरह से फर्जी और भ्रामक है। इस प्रकार की अनाधिकृत/फर्जी व भ्रामक सूचनाओं को वायरल करना दण्डनीय अपराध है। बोर्ड द्वारा परीक्षाओं से संबंधित जो भी सूचनायें दी जाती है वह परिषद् की इसी अधिकृत वेबसाइट www.upmsp.edu.in के माध्यम से दी जाती है और यही सूचनाएं मान्य व अधिकृत होती हैं।यूपी सरकार ने यूपी बोर्ड 2020 की हाई स्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षाओं का मूल्यांकन कोरोना वायरस व लॉकडाउन की वजह से स्थगित कर दिया गया है। इस वर्ष 56.7 लाख परीक्षार्थी पंजीकृत थे जिनमें से लगभग पौने 5 लाख ने परीक्षा छोड़ दी थी। लगभग तीन करोड़ कॉपियों का मूल्यांकन किया जाना है। 

यूपी बोर्ड की कॉपियों का मूल्यांकन स्थगित होने से अब परीक्षा परिणाम 24 अप्रैल को आना संभव नहीं है, क्योंकि अब मूल्यांकन कब शुरू होगा यह भी तय नहीं है। ज्ञात हो कि बोर्ड परीक्षा का परिणाम 24 अप्रैल के आसपास घोषित होना था।

8वीं तक के सभी स्टूडेंट्स पास
पिछले माह राज्य में बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों के एक से लेकर आठवीं तक के सभी छात्र-छात्राओं को बिना परीक्षा पास किए जाने का आदेश जारी कर दिया गया है।