ALL News राजनीति Education Public
UPTET 2019 : शांतिपूर्ण रही पहली पाली की परीक्षा, बारिश व भीषण जाम से हजारों अभ्यर्थियों की परीक्षा छूटी
January 8, 2020 • Dr. Samrat

UPTET 2019 : शांतिपूर्ण रही पहली पाली की परीक्षा, बारिश व भीषण जाम से हजारों अभ्यर्थियों की परीक्षा छूटी

जेएनएन, लखनऊ। UPTET 2019 : उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा बुधवार सुबह शुरू हो गई है। परीक्षा के लिए स्कूलों में अवकाश करने के निर्देश के बाद भी तमाम कांवेंट स्कूल खुले रहे। साथ ही कार्य दिवस होने से कई शहरों में भीषण जाम लग गया। इस कारण हजारों अभ्यर्थियों की परीक्षा छूट गई। कई जिलों में बारिश ने भी खलल डाला। प्रदेश भर के सभी जिलों में इम्तिहान दो पालियों में हो रहा है। प्राथमिक स्तर की परीक्षा सुबह 10 से 12.30 बजे तक 1986 केंद्रों पर पूरी हो गई है। अभी तक शांतिपूर्ण परीक्षा की सूचना है। अब उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा दोपहर बाद 2.30 से 5.00 बजे तक 1063 केंद्रों पर होगी।

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा 2019 बुधवार को सुबह दस बजे शुरू हुई। कई जिलों में मंगलवार देर रात से हो रही बारिश सुबह कुछ समय के लिए थमी, लेकिन अभ्यर्थियों को परीक्षा केंद्रों तक भीगते-भीगते ही पहुंचना पड़ा। परीक्षा केंद्रों पर दो स्तर पर अभ्यर्थियों के कागजातों की जांच की गई। जिन अभ्यर्थियों के पास एडमिट कार्ड व पहचान पत्र के साथ बीएड या अन्य प्रशिक्षण की मूल मार्कशीट या फोटोकॉपी की अटेस्टेड प्रति नहीं थी, उन्हें परीक्षा केंद्र में प्रवेश की अनुमति नहीं दी गई।


आगरा, अलीगढ़ और गाजीपुर से छह गिरफ्तार

आगरा और अलीगढ़ में परीक्षा के दौरान एक-एक संदिग्ध व्यक्तियों को पकड़ा गया है। पुलिस इनसे पूछताछ कर रही है। एसटीएफ ने गाजीपुर के छावनी लाइन स्थित बुद्धम शरणम इंटर कॉलेज में परीक्षा में नकल कराने के आरोप में प्रिंसपल सहित चार लोगों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए प्रिंसपल पारस सिंह पर आरोप है कि वह अभ्‍यर्थियों के पेपर हल करवा रहे थे।

कागजातों की कमी से लौटे अभ्यर्थी

कई जिलों में अभ्यर्थी बिना किसी फोटो पहचान पत्र के ही पहुंच गए थे, उन्हें भी परीक्षा में शामिल होने की अनुमति नहीं मिली। तमाम परीक्षा केंद्रों से अभ्यर्थियों को कागजातों की कमी के कारण लौट जाना पड़ा। इसके साथ ही कई जिलों में अभ्यर्थियों को परीक्षा केंद्र तक पहुंचने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। प्रयागराज में परीक्षा केंद्र काफी संकरी गलियों में बनाए गए, जिससे परेशानी हुई।

 

बारिश होने से अभ्‍यर्थियों काे काफी दुश्‍वारी

वाराणसी में भी अभ्यर्थियों की भीड़ के कारण शहर के लगभग सभी प्रमुख मार्ग जाम हो गए। जाम के कारण कई अभ्यर्थी कई वाहन छोड़ पैदल ही केंद्रों पर पहुंचे। इस कारण देर हो गई, जिससे केंद्र में प्रवेश को लेकर उन्हें परेशान होना पड़ा। साथ ही सुबह से ही ठंड और कोहरा होने के साथ ही कुछ इलाकों में बारिश होने से अभ्‍यर्थियों काे काफी दुश्‍वारी झेलनी पड़ी।

अक्टूबर से चल रही परीक्षा की प्रक्रिया

यूपी टीईटी के लिए प्रक्रिया अक्टूबर माह से चल रही है। प्राथमिक स्तर की परीक्षा के लिए 1076336 व उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा के लिए 569174 अभ्यर्थियों ने ऑनलाइन आवेदन किया है। इस बार सॉफ्टवेयर में बदलाव करने के कारण अभ्यर्थी दोहरे आवेदन नहीं कर सके। इसीलिए किसी का आवेदन निरस्त नहीं हुआ। सभी मंडलायुक्तों व डीएम को निर्देश हैं कि वे हर परीक्षा केंद्र पर अभ्यर्थियों के प्रवेश के समय प्रवेश द्वार की वीडियो रिकॉर्डिंग कराएं, ताकि कोई अराजकतत्व गड़बड़ी न कर सके।

काफी संख्या में लगे अफसर-कर्मचारी

परीक्षा के लिए 1,24,325 कक्ष निरीक्षक लगे हैं, जबकि 6096 पर्यवेक्षक, 663 सचल दल, इतने ही प्रश्नपत्र परीक्षा केंद्रों तक पहुंचाने वाली टीमें हैं। 3048 केंद्र व्यवस्थापक तैनात हैं। इतने ही स्टेटिक मजिस्ट्रेट लगाए गए हैं। वहीं, 4394 तृतीय श्रेणी कर्मचारी और 7645 चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी तैनात किये गए हैं।