ALL News राजनीति Education Public
रोशनी वेलफेयर सोसाइटी ने किया राजनीतिक पार्टीयों के महानगर अध्यक्षों को सम्मानित
March 15, 2020 • Dr. Arshad Samrat

रोशनी वेलफेयर सोसाइटी मुज़फ्फरनगर की जानिब से मुज़फ्फरनगर के राजनीतिक पार्टीयों के महानगर अध्यक्षों को सम्मानित किया गया। जिसमें बसपा से माज़िद सिद्दीकी, सपा से अलीम सिद्दीकी, कांग्रेस से जुनैद रऊफ, लोकदल से समद खान, आप से वसी खेरी मीर जी, एम आई एम से नदीम खान , इत्यादि पार्टियों के महानगर अध्यक्षों का शॉल व फूलमालाएं डालकर ज़ोरदार स्वागत व सम्मान किया गया ।सपा महानगर अध्यक्ष अलीम सिद्दीकी ने रोशनी वेलफेयर सोसायटी द्वारा दिए गए सम्मान के बारे में कहते हुए कहा कि आज रोशनी वेलफेयर सोसाइटी के द्वारा जो सम्मान दिया गया है वह हमेसा याद किया जाएगा। यह सम्मान मेरे मोहल्ले वासियो ने अपना भाई मानते हुए दिया है। में रोशनी वेलफेयर सोसायटी के साथ हर समय कंधा से कंधा मिलाकर खड़ा रहूगा जहा भी जिस तरह की मेरी जरूरत हो मैं हमेशा सभी के साथ खड़ा मिलूंगा।कांग्रेस पार्टी के नगराध्यक्ष जुनैद रऊफ ने कहा कि में रोशनी वेलफेयर सोसायटी का उपाध्यक्ष होने के साथ कांग्रेस पार्टी का नगर अध्य्क्ष हू। हमेशा की तरह आप सभी के साथ खड़ा हूँ जहां मेरी जरूरत होगी आपसे पहले खड़ा मिलूंगा। रोशनी वेलफेयर सोसाइटी के मानवीय कामो को मद्देनजर रखते हुए बसपा महानगर अध्यक्ष माजिद सिद्दीक़ी ने  रोशनी वेलफेयर सोसाइटी को अपने मरहूम वालिद व वालिदा के इसाल ए सवाब के लिए ₹51000 देने का एलान किया। आप पार्टी के वसी खेरी मीर जी ने कहा कि रोशनी वेलफेयर सोसाइटी के द्वारा सोसाइटी के अध्यक्ष माननीय डॉ सम्राट के आवास पर एक प्रोग्राम का आयोजन किया गया जिसमें रोशनी वेलफेयर सोसाइटी के जुझारू सदस्य गण व पदाधिकारी जो देश की बड़ी राजनीतिक पार्टियों में मुज़फ्फरनर महानगर अध्यक्ष पद पर हैं उनका शाल उढ़ाकर और फूल माला पहनाकर  सम्मानित करना हम सभी के लिए गौरव की बात है कि रोशनी वेलफेयर सोसायटी ने मुज़फ्फरनगर में पहली बार इस तरह का आयोजन किया गया जिसमें मुझको आम आदमी पार्टी के वसी खैरी मीर जी को पावटी प्रधान दानिश त्यागी और कस्सार समाज के ज़िला अध्यक्ष हाजी शफीक थानवी जी ने शाल पहनाई और कोकब भाई ने फूल माला पहनाकर सम्मानित किया!इस इज़्ज़त अफज़ाई के लिये रोशनी वेलफेयर सोसाइटी का तह दिल  से शुक्रिया करता हूं। एम आई एम से नदीम खान ने कहा कि सच मे आज गर्व महसूस कर रहा हु की पहली बार इस तरह का प्रोग्राम हुआ जिसमें सभी राजनीतिक पार्टियों के नगराध्यक्ष को एक साथ एक मंच पर सम्मानित किया गया। रोशनी वेलफेयर सोसायटी हमेशा मुज़फ्फरनगर को मोहब्बत नगर बनाती रही है जिसमे आज फिर साबित कर दिया कि सभी राजनीतिक पार्टियों के नगराध्यक्ष को एक मंच पर एक साथ मोहबत के साथ सम्मानित कर रही है।राष्ट्रीय लोकदल के छात्र प्रदेश महासचिव समद खान ने कहा कि जिस प्रकार हम सब आज एक साथ बैठे है उसी प्रकार एक साथ मिलकर अपनी अपनी पार्टियों के द्वारा मुज़फ्फरनगर में चहुमुखी विकास कराना हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए।बहार से आने वाला मेहमान शहर की हालत देखकर ही समझ जाता है कि यहा किस तरह के लोग रहते है अपने आस पास और शहर को साफ शूथरा रखने में हमेशा सहयोग करे। रोशनी वेलफेयर सोसाइटी के अध्यक्ष डॉ. सम्राट ने देश मे फेल रहे करोंना वायरस के बारे में समझाते हुए कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार भारत ब्रिटेन और अमरीका समेत कोरोना वायरस कोविड 19 अब दुनिया के 123 देशों में फैल गया है और इसके कारण पाँच हज़ार से अधिक मौतें हो चुकी हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार दुनिया भर में इसके संक्रमण के 136,895 मामलों की पुष्टि हो चुकी है.इससे बचने के लिए आप नियमित रूप से और अपने हाथ साबुन और पानी से अच्छे से धोएं जब कोरोना वायरस से संक्रमित कोई व्यक्ति खांसता या छींकता है तो उसके थूक के बेहद बारीक कण हवा में फैलते हैं. इन कणों में कोरोना वायरस के विषाणु होते हैं। संक्रमित व्यक्ति के नज़दीक जाने पर ये विषाणुयुक्त कण सांस के रास्ते आपके शरीर में प्रवेश कर सकते हैं। अगर आप किसी ऐसी जगह को छूते हैं, जहां ये कण गिरे हैं और फिर उसके बाद उसी हाथ से अपनी आंख, नाक या मुंह को छूते हैं तो ये कण आपके शरीर में पहुंचते हैं। ऐसे में खांसते और छींकते वक्त टिश्यू का इस्तेमाल करना, बिना हाथ धोए अपने चेहरे को न छूना और संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से बचना इस वायरस को फैलने से रोकने के लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं।इंसान के शरीर में पहुंचने के बाद कोरोना वायरस उसके फेफड़ों में संक्रमण करता है। इस कारण सबसे पहले बुख़ार, उसके बाद सूखी खांसी आती है. बाद में सांस लेने में समस्या हो सकती है।वायरस के संक्रमण के लक्षण दिखना शुरू होने में औसतन पाँच दिन लगते हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार वायरस के शरीर में पहुंचने और लक्षण दिखने के बीच 14 दिनों तक का समय हो सकता है। हालांकि कुछ शोधकर्ता मानते हैं कि ये समय 24 दिनों तक का भी हो सकता है।कोरोना वायरस उन लोगों के शरीर से अधिक फैलता है जिनमें इसके संक्रमण के लक्षण दिखाई देते हैं। लेकिन कई जानकार मानते हैं कि व्यक्ति को बीमार करने से पहले भी ये वायरस फैल सकता है।बीमारी के शुरुआती लक्षण सर्दी और फ्लू जैसे ही होते हैं जिससे कोई आसानी से भ्रमित हो सकता है।
कोरोना वायरस के संक्रमण के आँकड़ों की तुलना में मरने वालों की संख्या को देखा जाए तो ये बेहद कम हैं। हालांकि इन आंकड़ों पर पूरी तरह भरोसा नहीं किया जा सकता, लेकिन आंकड़ों की मानें तो संक्रमण होने पर मृत्यु की दर केवल एक से दो फ़ीसदी हो सकती है।फ़िलहाल कई देशों में इससे संक्रमित हज़ारों लोगों का इलाज चल रहा है और मरने वालों का आँकड़ा बढ़ भी सकता है।प्रोग्राम कि सदारत इकरार फारूकी व संचालन रफी खेरी मीर जी ने किया। इस मौके पर डॉ. अरशद सम्राट, आरिफ एडवोकेट, शहजाद, शमीम कस्सार, तारिक़ भाई, बॉबी सिद्दीकी, दानिश प्रधान,हाजी मुनव्वर,व रोशनी वेलफेयर सोसाइटी के सभी सम्मानित सदस्य मौजूद रहे।