ALL News राजनीति Education Public
राष्ट्रीय लोक अदालत मुजफ्फरनगर में कुल 5552 मामलों का निस्तारण
February 8, 2020 • Dr. Samrat

 दिनांक 08.02.2020 दिन द्वितीय शनिवार को राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली व राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, लखनऊ के आदेशानुसार माननीय जनपद न्यायाधीश श्री राजीव शर्मा अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के कुशल निर्देशन में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया। जिसमें काफी संख्या में अधिवक्तागण, वादकारीगण व न्यायिक अधिकारीगण, प्रशासनिक अधिकारीगण, बैंक व बीमा कम्पनी के अधिकारीगण द्वारा सकिय रूप से भागीदारी की गयी। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष माननीय जनपद न्यायाधीश द्वारा अपने सम्बोधन में राष्ट्रीय लोक अदालत के लाभ बताते हुये कहा कि लोक अदालत का मुख्य उद्देश्य वादकारियों को सरल एवं सुलभ न्याय प्रदान करना है। उन्होंने यह भी कहा कि यदि वादकारी आपसी समझौते के आधार पर वाद का निस्तारण करते हैं तो उनके मध्य आपसी सौहार्द बना रहता है।
अध्यक्ष महोदय द्वारा राष्ट्रीय लोक अदालत में आसिफ बनाम रिहाना तथा आरिफ बनाम अफसाना निवासी ग्राम सुजडू थाना कोतवाली जिला मुजफ्फरनगर के मध्य चल रहे पारिवारिक विवाद का निस्तारण करते हुये सुलह समझौते के आधार पर साथ-साथ भेजा।
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण मु०नगर के सचिव श्री मुकीम अहमद (सि0जज0 वरिष्ठ प्रभाग) द्वारा यह बताया गया कि इस राष्ट्रीय लोक अदालत में जिला न्यायालय मु0नगर के 777 मुकदमें निस्तारित कर 5,17,910 रू० अर्थदण्ड वसूल किया गया। इस लोक अदालत में कुटुम्ब न्यायालय द्वारा कुल 30 वाद निस्तारित किये गये।
जिलाधिकारी मु0नगर के द्वारा तथा अपर जिलाधिकारी/एस०डी०एम० तथा विभिन्न तहसीलों के द्वारा 4403 मुकदमों का निस्तारण किया गया।
इस राष्ट्रीय लोक अदालत में विभिन्न बैंकों एवं भारत संचार निगम लिमिटेड के द्वारा भागिता की गयी। बैंकों द्वारा 372 बैंक ऋण मामले निस्तारण कराके कुल 4,57.89,48850 4पैसे (चार करोड सत्तावन लाख नवासी हजार चार सौ अट्ठासी रूपये चार पैसे) का आपसी सुलह-समझौते के
आधार पर निस्तारण कराके प्राप्त किये। इस राष्ट्रीय लोक अदालत के कुशल समापन पर नोडल अधिकारी श्री ओमवीर सिंह, अपर जिला जज द्वारा सभी उपस्थित अधिकारीगण व कर्मचारीगण का आभार व्यक्त
किया गया।
इस प्रकार जनपद मुजफ्फरनगर से कुल 5552 मामलों का निस्तारण किया गया।