ALL News राजनीति Education Public
Nirbhaya Case: आखिरी बार पिता से मिला दोषी विनय, बोला-पापा एक बार गले तो लगा लो...
January 15, 2020 • Dr. Samrat

तिहाड़ जेल के कसूरी वार्ड नंबर- 4 में हमेशा की तरह सन्नाटा पसरा था। फांसी की तारीख मुकर्रर होने के बाद इसी वार्ड में निर्भया के सभी गुनहगारों को रखा गया है। मंगलवार दोपहर को जेल कर्मी ने आवाज लगाई कि विनय तुमसे कोई मिलने आया है। अपने सेल में फर्श पर एकांत में बैठा विनय लड़खड़ाते कदम से जेल कर्मी के साथ विजिटर रूम पहुंचता है। पिता को सामने देखते ही वह रो पड़ता है और यही हाल उसके पिता का भी है। 

उनकी आंखों से भी आंसू छलक पड़ते हैं। विनय के मुंह से अचानक आवाज निकलती है कि पापा एक बार गले तो लगा लो। लेकिन दोनों एक दूसरे को छू भर पाते हैं। आधे घंटे तक चली मुलाकात के दौरान विनय की आंखों के सामने अंधेरा छा जाता है और वह लड़खड़ाकर गिरने लगता है जिसे जेल कर्मी थाम लेते हैं।

यह दोषी विनय की अपने परिवार से अंतिम मुलाकात थी या नहीं, इस बारे में जेल प्रशासन ने खुलासा नहीं किया है। लेकिन आधिकारिक सूत्रों का कहना है कि 20 जनवरी को निर्भया के चारों गुनहगारों को उनके परिवार से अंतिम बार मिलने का मौका दिया जाएगा। जेल सूत्रों का कहना है कि जेल मैनुअल के मुताबिक जेल में बंद कैदियों को एक सप्ताह में दो बार परिवार के सदस्यों से मिलने की इजाजत दी जाती है। 
 इसके तहत ही विनय के पिता मंगलवार दोपहर अपने बेटे से मिलने के लिए जेल पहुंचे थे। सूत्रों के मुताबिक फांसी की तारीख मुकर्रर हो जाने के बाद विनय जेल में परेशान है। ऐसे में पिता को देखकर विनय अपने आप को रोक नहीं पाया और फूट-फूट कर रोने लगा। बेटे को रोता देख उसके पिता भी अपने आपने पर काबू नहीं रख सके। उनकी आंखों से भी आंसू छलक पड़े। 

आधे घंटे की मुलाकात के दौरान पिता ने विनय को ढांढस बंधाया। वहीं, विनय ने पिता से परिवार के सदस्यों का कुशल क्षेम पूछा। मुलाकात की अवधि खत्म होने के बाद जेल कर्मी विनय को लेकर उसके सेल में चले गए। 

विनय का अपने पिता के साथ यह अंतिम मुलाकात थी या नहीं इस बारे में जेल अधिकारियों कहना है कि अभी तक जेल मैनुअल के मुताबिक ही दोषी अपने परिवार वालों से मुलाकात कर रहे थे। जल्द ही जेल प्रशासन उनकी अंतिम मुलाकात की तारीख तय करने वाली हैं। सूत्रों का कहना है कि यह तारीख 20 जनवरी हो सकती है।