ALL News राजनीति Education Public
मुखिया गुर्जर के आह्वान पर ग्रेटर दिल्ली के लिये चलेगा हस्ताक्षर अभियान : उसमान मनव्वर 
January 28, 2020 • Dr. Samrat

बड़ौत/ बागपत! पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 17 जिलों को दिल्ली में शामिल करते हुए ग्रेटर दिल्ली राज्य के निर्माण की मांग को लेकर पथिक सेना लगातार आंदोलन कर रहा हैं इस मांग को लेकर पथिक सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुखिया गुर्जर के आह्वान पर जल्द ही हस्ताक्षर अभियान चलाया जायेगा! 

     प्रैस को जारी किये गये ब्यान में पथिक सेना के मुख्य प्रवक्ता उसमान मनव्वर ने कहा हैं कि उत्तर प्रदेश विश्व के 195 देशों से बड़ा है। इसका विभाजन तत्काल जरूरी है। छोटे प्रदेश में ही नागरिकों का भला हो सकता है। ग्रेटर दिल्ली के गठन का विधेयक वर्ष 1953 में ही दिल्ली विधानसभा में पास है। दिल्ली से जुड़कर ही पश्चिम के 17 जनपद राष्ट्र की मुख्य धारा में आ सकते हैं। उन्हें न्याय सुलभ होगा व आय भी बढ़ेगी। उत्तर प्रदेश बहुत बड़ा राज्य है। ऐसे में शासन और प्रशासन को बेहतर प्रबंधन के लिए इसका पुनर्गठन करते हुए उसे छोटे राज्यों में विभाजित कर देना चाहिए। बड़े राज्यों की तुलना में छोटे राज्यों की विकास दर अधिक है। 25 करोड़ की आबादी वाले विशाल प्रदेश में नागरिकों का भला होने की उम्मीद कभी नहीं की जा सकती। पश्चिम से राजस्व और टैक्स के नाम पर पैसा एकत्र करके पूर्वी क्षेत्रों में विकास करा दिया जाता है। बड़े-बड़े शिक्षण संस्थान बनारस, इलाहाबाद और लखनऊ में स्थापित किए गए, जबकि बरेली, आगरा और शाहदरा में पागलखाने बनाए गए। यह पश्चिम की उपेक्षा नहीं तो क्या है। पश्चिम के 17 जनपद यदि दिल्ली में शामिल हुए तो वे राष्ट्र की मुख्य धारा से जुड़ जाएंगे। अभी तक तो बहू, बेटियों को नौकरी करने, न्याय के लिए हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाने, सरकार तक अपनी बात कहने को राजधानी तक जाने के लिए 500 से 600 किमी तक की यात्रा करनी पड़ती है। इन हालात में फंसी जनता बुरी तरह त्रस्त है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मेरठ, बागपत, शामली, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, बिजनौर, मुरादाबाद, संभल, अमरोहा, हापुड़, गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर, बुलंदशहर, अलीगढ़, हाथरस, मथुरा, आगरा जिलों को दिल्ली में शामिल कर नया राज्य ग्रेटर दिल्ली बनाया जाए। 
इसलिए क्रांतिकारी नेता पथिक सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी मुखिया गुर्जर के नेतृत्व मे  सरकार से मांग कर रहे हैं कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 17 जिलों को दिल्ली में शामिल करते हुए ग्रेटर दिल्ली राज्य का निर्माण किया जाए और इस मांग लेकर प्रदेश भर मे पथिक सेना हस्ताक्षर अभियान चलाकर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मांग की जायेगी कि वह ग्रेटर दिल्ली राज्य का निर्माण कर पश्चिम के 17 जिलों को विकास के मुख्य धारा जोड़ा जायें!