ALL News राजनीति Education Public
एक्शन एड़ संस्था ने ज़ररूरतमन्दों को दी राशन किट
May 1, 2020 • Dr. Arshad Samrat

मुज़फ्फरनगर 

विगत एक सप्ताह से एक्शन एड इंडिया संस्था के द्वारा एवं "गिव इंडिया" "हेलो सोशल एप्प" के सहयोग से मुज़फ्फरनगर ज़िलें के सदर, शाहपुर, बुढ़ाना, पुरकाज़ी, बघरा विकास खंड के विभिन्न गाँवो में सैकड़ो मजदूरो व असहाय लोगो को खाद्यय सामग्री का वितरण किया गया.
एक्शन एड द्वारा दी गयी राहत सामग्री में आटा,चावल, दाल,चीनी, साबुन,सेनिटाईज़र, मिल्क पाउडर,मसाले एवं सैनिटरी नैपकिन आदि वस्तुएँ सम्मलित थी.
संस्था के कोरोना योद्धाओ द्वारा सभी जगह कोरोना वायरस (कोविड 19) के बारे में लोगो को बताया गया. फिजिकल दूरी रखना,बार बार हाथो को धोना, मास्क लगाना, घऱ से बाहर न निकलना और इससे होने वाले दुष्प्रभाव के बारे में भी लोगो को जागरूक किया गया.

एक्शन एड़ इंडिया के जिला समन्वयक कमर इंतेखाब ने बताया की प्रथम चरण में प्रशासन की स्वीकृति एवं  सहयोग से उत्तर प्रदेश के 9 ज़िलों में करीब 5 हज़ार मजदूरो, विधवाओं, ज़रूरतमंद परिवार इससे लाभावन्तित हुए है. इसके साथ ही संस्था पके हुए खाने के पैकेट भी लोगो तक पहुंचा रही हैं.   
इसी क्रम में मुज़फ्फरनगर शहरी क्षेत्र और 5 विकास खंडो में संस्था के सवयंसेवको द्वारा चिन्हित किये मजदूर वर्ग, विधवा महिलाओ को 500 राशन किट बांटी गयी है. सभी चिन्हित परिवारों कि लिस्ट को प्रशासन के साथ भी साझा किया गया है.

एक्शन एड लखनऊ में कार्यक्रम अधिकारी फ़राज़ अहमद ने बताया की लॉक डाउन के चलते अनेक लोगो के रोज़गार बंद है. या वह कही दूसरे राज्यों में फंसे हुए है, अब उनके परिवारों के सामने खाने का संकट पैदा हो गया है. उन्ही परिवारों के लिए एक्शन एड ने यह कोशिश की है. लेकिन हमे मिलकर प्रयास करने होंगे ताकि कोई भी भूखा न रहे.
खामपुर गाँव में एक लाभवंतित ओमपाल ने बताया कि लॉकडाउन के चलते उसका रोजगार ठप्प है. घऱ में भी दो तीन दिन का राशन बचा था ऐसे समय में खाने दाने की सहायता मिलना हमारे लिए ख़ुशी की सौगात है.
अस्तित्व संस्था के अर्पित धीमान ने पुरे ज़िलें में अपने प्रेरको के माध्यम से खाद्य सामग्री का वितरण कराया. जिससे कि चिन्हित परिवारो में से कोई भी लाभ से वंचित न रहे.
खुदाई खिदमतगार व नई पहल के वॉलंटियर्स कोपीन कुमार, शुएब, अमजद, मनोज, प्रधान आमिर, इंतज़ार, गीता, कविता, ललतेश, सलीम चौधरी, फैज़ कमर आदि ने सभी गाँवो में वितरण करने में अपना सहयोग दिया.