ALL News राजनीति Education Public
भारत ने विंडीज को 107 रन से दी मात, सीरीज में 1-1 की बराबरी
December 19, 2019 • Dr. Samrat

भारत ने विंडीज को 107 रन से दी मात, सीरीज में 1-1 की बराबरी

टीम इंडिया ने वेस्ट इंडीज के खिलाफ खेले गए दूसरे वनडे मैच में पहले अपने दोनों ओपनर्स (रोहित और राहुल) के धमाकेदार शतकों और फिर कुलदीप यादव की शानदार हैटट्रिक के बाद दूसरा वनडे 107 रन से अपने नाम कर लिया है।

पहले भारतीय ओपनर्स रोहित शर्मा (159) और केएल राहुल (102) के शतकों के बाद कुलदीप यादव की हैटट्रिक और मोहम्मद शमी की धारदार बोलिंग के दम पर टीम इंडिया ने वेस्ट इंडीज को दूसरे वनडे मैच में 107 रन से हरा दिया। भारतीय टीम की इस जीत के दम पर 3 वनडे मैचों की सीरीज 1-1 से बराबर हो गई है और अब सीरीज का निर्णायक मैच कटक में खेला जाएगा। भारत ने विंडीज को यहां 388 रन का विशाल लक्ष्य दिया था लेकिन इसके जवाब में विंडीज 43.3 ओवर में 280 रन बनाकर ढेर हो गई। रोहित शर्मा को उनकी शानदार पारी के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया।
विंडीज की अच्छी शुरुआतविंडीज ने बड़े लक्ष्य का पीछा करते हुए शानदार शुरुआत की थी। लेकिन पावरप्ले के बाद 11वें ओवर में उसने इविन लुईस (30) के रूप में पहवा विकेट गंवाया। लुईस के बाद पहले वनडे में विंडीज की जीत के हीरो रहे हेटमेयर (4) श्रेयस अय्यर की स्मार्ट फील्डिंग के चलते रन आउट हो गए और उसका रोस्टन चेज को उपरी क्रम में भेजने का दांव भी नहीं चला। इस तरह 61 पर पहला विकेट गंवाने वाली विंडीज ने 86 रन तक पहुंचते-पहुंचते अपने 3 विकेट गंवा दिए।

होप और पूरन ने लड़खड़ाती पारी को संभाला
इसके बाद शे होप के साथ मिलकर निकोलस पूरन ने विंडीज की लड़खड़ाती पारी को सहारा दिया और दोनों ने चौथे विकेट के लिए शानदार 106 रन जोड़े। मैच में पिछड़ती दिख रही विंडीज को पूरन ने अपनी तेज पारी से वापस पटरी पर लाने की कोशिश की। पूरन ने 47 बॉल की अपनी पारी में शानदार 75 रन ठोक दिए। इस दौरान उन्होंने 6 चौके और 6 छक्के भी बरसाए। इस बीच उन्हें एक दो मौकों पर भाग्य का साथ भी मिला।

यादव ने रचा इतिहास, ODI में दूसरी हैटट्रिक

मोहम्मद शमी ने कराई टीम इंडिया की वापसी
आखिरकार मोहम्मद शमी ने पूरन को आउट कर होप और पूरन की इस साझेदारी को तोड़ा। पूरन स्केयर लेग पर छक्का मारने के प्रयास में कुलदीप की गेंद पर आउट हुए। अगली ही गेंद पर कायरन पोलार्ड गोल्डन डक का शिकार हो गए। इस तरह विंडीज की आधी टीम आउट हो गई।

कुलदीप की हैटट्रिक बिखरा विंडीज
अब शे होप विंडीज की आखिरी उम्मीद नजर आ रहे थे लेकिन विंडीज की पारी के 33वें ओवर में कुलदीप यादव ने उनको कप्तान विराट कोहली के हाथ में कैच लपकवाकर अपना शिकार बनाया। इस ओवर में कुलदीप यहीं नही रुके और उन्होंने यहां अगली दो गेंदों पर भी जेसन होल्डर (11) और अल्जारी जोसफ (0) को शिकार बनाकर मैच में अपनी हैटट्रिक पूरी की और टीम इंडिया की जीत भी सुनिश्चित कर दी। यह वनडे करियर में उनकी दूसरी हैटट्रिक है। ऐसा करने वाले वह एकमात्र भारतीय हैं। अंत में विंडीज की टीम ने अपनी हार को कुछ देर टालने की कोशिश जरूर की लेकिन पारी के 43वें ओवर में उसका संघर्ष कीमो पॉल के बोल्ड होने साथ यहीं खत्म हो गया और भारत ने यहां जीत अपने नाम कर ली।

गांगुली, वॉर्नर के क्लब में आए रोहित, सचिन से दूर

ऐसा रहा भारतीय पारी का हाल
इससे पहले सलामी बल्लेबाजों रोहित शर्मा और लोकेश राहुल की शतकीय पारियों के दम पर भारत ने वेस्ट इंडीज के खिलाफ दूसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में बुधवार को यहां पांच विकेट पर 387 रन बनाए। वेस्ट इंडीज के खिलाफ टीम इंडिया का दूसरा, जबकि कुल 8वां सर्वोच्च स्कोर है। इस मैच से पहले भारत ने वेस्ट इंडीज के ही खिलाफ इंदौर में दिसंबर 2011 में 5 विकेट पर 418 रन का अपना सर्वोच्च स्कोर बनाया था।

6 साल 'गोल्डन डक' का शिकार हुए विराट कोहली

पहले विकेट के लिए रोहित-राहुल ने जोड़े 227 रन
रोहित ने 138 गेंद में 17 चौकों और 5 छक्कों की मदद से 159 रन की पारी खेलने के अलावा राहुल (102) के साथ पहले विकेट के लिए 227 रन की साझेदारी की। भारतीय टीम अंतिम 7 ओवर में 100 रन जोड़ने में सफल रही। श्रेयस अय्यर (32 गेंद में 53 रन, 3 चौके, 4 छक्के) और ऋषभ पंत (16 गेंद में 39 रन, 3 चौके, 4 छक्के) ने चौथे विकेट के लिए सिर्फ 4 ओवर में 73 रन की साझेदारी करके भारत का स्कोर 350 रन के पार पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई।

रोहित-राहुल की जोड़ी ने गांगुली-सहवाग को पछाड़ा
वेस्ट इंडीज के खिलाफ भारत की ओर से पहले विकेट की यह सर्वोच्च साझेदारी है। रोहित और राहुल ने सौरभ गांगुली और वीरेंदर सहवाग को पीछे छोड़ा, जिन्होंने नवंबर 2002 में राजकोट में 196 रन की साझेदारी की थी। भारत की सलामी जोड़ी ने छठी बार 200 या इससे अधिक रन की साझेदारी करते हुए दूसरे स्थान पर मौजूद ऑस्ट्रेलिया की बराबरी की।

पहले विकेट के लिए सर्वाधिक बार 200 या इससे अधिक रन की साझेदारी का रेकॉर्ड श्रीलंका के नाम है, जिसके बल्लेबाजों ने 11 बार यह उपलब्धि हासिल की है। वेस्ट इंडीज के कप्तान कायरन पोलार्ड ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया, जिसे राहुल और रोहित ने गलत साबित करने में कोई कसर नहीं छोड़ी।

कप्तान कोहली का गोल्डन डक
कप्तान विराट कोहली एक बार फिर नाकाम रहे और पोलार्ड (20 रन पर 1 विकेट) की पारी की तीसरी और अपनी पहली ही गेंद पर शॉर्ट मिडविकेट पर रोस्टन चेज को कैच दे बैठे। इस बीच रोहित ने होल्डर पर छक्के के साथ 150 रन के स्कोर को पार किया। उन्होंने कॉटरेल पर चौका भी मारा लेकिन अगली गेंद पर विकेटकीपर शे होप को कैच दे बैठे।

इसके बाद पंत ने जोसेफ पर दो छक्कों के साथ 45वें ओवर में टीम का स्कोर 300 रन के पार पहुंचाया। बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने 46वें ओवर में कॉटरेल पर दो छक्कों और तीन चौकों से 24 रन जोड़े। अय्यर ने भी अगले ओवर में चेज की लगातार गेंदों पर तीन छक्के और दो चौकों से 31 रन बटोरे जो एकदिवसीय इतिहास में भारत की ओर से एक ओवर में सर्वाधिक रन का नया रेकॉर्ड है। पंत हालांकि कीमो पाल के अगले ओवर में निकोलस पूरण को कैच दे बैठे। अय्यर ने इसी ओवर में एक रन के साथ 28 गेंद में लगातार चौथा अर्धशतक पूरा किया। वह हालांकि कॉटरेल के अगले ओवर में होप को कैच दे बैठे।

कुलदीप यादव ने विशाखापत्तनम में वेस्ट इंडीज के खिलाफ हैटट्रिक ले ली। वह वनडे इंटरनैशनल में एक से ज्यादा हैटट्रिक लेने वाले पहले भारतीय बोलर हैं।
   
विशाखापत्तनम
भारतीय स्पिनर कुलदीप यादव ने बुधवार को इतिहास रच दिया। वह भारत की ओर से एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में दो हैटट्रिक लेने वाले पहले गेंदबाज बन गए। विशाखापत्तनम में वेस्ट इंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज के दूसरे मैच में उन्होंने हैटट्रिक लेकर कमाल कर दिया।
कैसे हुई हैटट्रिक
कुलदीप ने 33वें ओवर की चौथी गेंद पर शे होप को आउट कर अपना पहला विकेट हासिल किया। उनकी फ्लाइटेड गेंद पर होप ने बड़ा शॉट खेला। उनका स्लॉग स्वीप मिडविकेट बाउंड्री के पार जा रहा था लेकिन कप्तान विराट कोहली ने संयम बनाकर रखा और सीमारेखा पर अच्छा कैच किया।

अगली गेंद पर उन्होंने जेसन होल्डर को आउट किया। यादव की फ्लाइटेड गेंद पर वह चूक गए और आगे निकल आए। क्रीज में उनका पैर पूरी तरह लौट नहीं पाया। पैर हवा में थे जब कुलदीप ने गिल्लियां बिखेर दीं।

ओवर की आखिरी गेंद पर अलजारी जोसफ के बल्ले का बाहरी किनारा लेती हुई दूसरी स्लिप में केदार जाधव के हाथों में गई।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ली थी पहली हैटट्रिक
कुलदीप ने अपनी पहली हैटट्रिक ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 2017 में कोलकाता के ईडन गार्डंस मैदान पर ली थी। उन्होंने मैथ्यू वेड, ऐश्टन एगर और पैट कमिंस के विकेट लिए थे।

वनडे में सबसे ज्यादा हैटट्रिक
वनडे इंटरनैशनल में एक से ज्यादा हैटट्रिक लेने वाले गेंदबाजों की बात करें तो लसिथ मलिंगा सबसे आगे हैं। मलिंगा के नाम तीन तिकड़ी हैं। इसके अलावा वसीम अकरम, सकलैन मुश्ताक (पाकिस्तान), चमिंडा वास (श्रीलंका) और ट्रेंट बोल्ट (न्यू जीलैंड) ने दो-दो हैटट्रिक ली हैं। कुलदीप यादव की यह दूसरी वनडे इंटरनैशनल हैटट्रिक रही।

भारत की ओर से कौन हैं हैटट्रिक लेने वाले बोलर
कुलदीप के अलावा भारत की तरफ से वनडे में चेतन शर्मा, कपिल देव और मोहम्मद शमी ने हैटट्रिक ली है। इन सभी के नाम एक बार हैटट्रिक लेने की उपलब्धि दर्ज है। टेस्ट क्रिकेट की बात करें तो भारत की ओर से हरभजन सिंह, इरफान पठान और जसप्रीत बुमराह ने तिकड़ी बनाई है। भारत की तरफ से टी 20 में हैटट्रिक विकेट लेने वाले एकमात्र गेंदबाज दीपक चाहर हैं।