ALL News राजनीति Education Public
बालिकाएं हमारे समाज में जीवित सरस्वती है। प्रत्येक करें मातृशक्ति का करे सम्मानः- जिला विद्यालय निरीक्षक श्री गजेन्द्र कुमार
February 9, 2020 • Dr. Samrat

अनुशासित बनकर देश सेवा करने के संकल्प के साथ तीन दिवसीय स्काउट-गाइड शिविर का समापन। 
बालिकाएं हमारे समाज में जीवित सरस्वती है। प्रत्येक करें मातृशक्ति का सम्मानः- जिला विद्यालय निरीक्षक श्री गजेन्द्र कुमार
विद्यालय महर्षि दयानन्द सरस्वती विद्या मन्दिर इण्टर काॅलिज मन्सूरपुर में उत्तर प्रदेश भारत स्काउट गाइड जिला संस्था मु0नगर के तत्वाधान में तीन दिवसीय स्काउट गाइड शिविर का समापन समारोह बडी धूमधाम के साथ सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम का शुभारम्भ कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रहे जिला विद्यालय निरीक्षक श्री गजेन्द्र कुमार, स्काउट गाइड डिस्ट्रिक्ट कमिश्नर डॉ. कंचन प्रभा शुक्ला, डिस्ट्रिक्ट सेक्रेट्री रेणु गर्ग, प्रबन्धक सन्दीप कुमार, प्रधानाचार्य अनिल कुमार उपाध्याय, डाॅ अ0 कीर्तिवर्धन अग्रवाल,भारत भूषण अरोरा,प्रवेन्द्र दहिया एवं कुलदीप सिवाच ने संयुक्त रूप से माॅं सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित करके किया गया। इसके पश्चात् विद्यालय की छात्राओं द्वारा सरस्वती वन्दना एवं स्वागत गीत प्रस्तुत किया। 
अन्तिम दिन स्काउट्स एवं गाइड्स ने अपनी टोली के साथ टेंट लगाकर उन्हें आकर्षक ढंग से सजाया तथा उनमें खानपान, दवाए,चूल्हा आदि की भी व्यवस्था की। सभी अतिथियों ने शिविर का निरीक्षण करते हुए उनसे विभिन्न प्रश्न पूछे एवं सभी के कार्य को सराहा। 
इस अवसर पर मुख्य अतिथि जिला विद्यालय निरीक्षक श्री गजेन्द्र कुमार ने स्काउट-गाइड्स को सम्बोधित करते हुए कहा कि विद्यार्थी जीवन ही मनुष्य के जीवन निर्माण की पहली सीढी है। जो इस समय का सदुपयोग करते है वे अपने लक्ष्य को प्राप्त कर जाते हैं। स्काउट से जुडकर विद्यार्थी विनम्र, अनुशासित, सहनशील,दयावान, ईमानदार एवं परिश्रमी बनता है और इन गुणों को धारणकर वह अपने जीवन के लक्ष्य को प्राप्त करता है। उन्होंने कहा कि बालिकाएं हमारे समाज में जीवित सरस्वती है। प्रत्येक को मातृशक्ति का सम्मान करना चाहिये क्योंकि जहाॅ नारियों का सम्मान होता है वहाॅं देवता निवास करते है। बालिकाओं को शिक्षित करना हम सबका उत्तरदायित्व है और तभी देश प्रगति कर सकता है। डॉ. कंचन प्रभा शुक्ला ने कहा कि माता-पिता भी बच्चों को अच्छे संस्कारों से युक्त करें ताकि एक श्रेष्ठ समाज का निर्माण हो सके। डाॅ कीर्तिवर्धन ने सभी बच्चो को अपनी दिनचर्या व्यवस्थित कर साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखने के लिए प्रेरित किया।
इसके साथ अच्छा प्रदर्शन करने वाले सभी प्रतिभागियों को मेडल व प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया। कैम्प में 310 से अधिक छात्र/छात्राओं ने प्रतिभाग किया। इस अवसर पर बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत कर सभी का मन मोह लिया।
जिला स्काउट प्रशिक्षक अमित कुमार, आशीष सैनी,अनूप कुमार,आनन्द बालियान, एवं गुंजन के द्वारा बच्चों को रस्सी गाॅंठ,कैंप फायर,खोज के संकेत,समाज सेवा ,देश सेवा, पैट्र्ोलिंग सिस्टम,दिशाओं का ज्ञान,तम्बू बनाना,प्राथमिक चिकित्सा,स्ट्र्ेचर बनाना,आग से बचने के उपाय आदि का प्रशिक्षण देकर सजग किया। सभी बच्चों ने शिविर बढ-चढ कर हिस्सा लिया। शिविर को सफल बनाने में अश्वनी,अनुज,संजीव,अनिल शास्त्री,रेणू चैधरी,रीतू कुमारी, राजीव,राजीव सिरोहा अंजू दीक्षित,विपिन,आरूषि,उर्वशी, अंकित, पंकज, राहुल, आदित्य, युनिका राहुल , सरिता, नाजरीन, पूजा राठी, शिखा, भारती, पूजा, दीक्षा, नीशू, अंशू, ज्योति,स्वाति,रजनी,सपना,ईशा, आदि सभी अध्यापक अध्यापिकाओं का विशेष योगदान रहा। कार्यक्रम का संचालन भारत भूषण अरोरा ने किया।